The Summer News
×
Tuesday, 18 June 2024

आम आदमी पार्टी ने किया CM आवास का घेराव, पुलिस द्वारा लाठीचार्ज करने का आरोप

चंडीगढ़ : चन्द्रिका ( TSN)- आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी के विरोध में पार्टी पदाधिकारियों और हजारों समर्थकों ने शनिवार को कुरुक्षेत्र में सीएम नायब सैनी के आवास का घेराव किया। इस दौरान आप पदाधिकारियों और समर्थकों को आगे बढ़ने से रोकने के लिए पुलिस ने वाटर कैनन और लाठीचार्ज किया गया । इस दौरान आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सुशील गुप्ता और वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष अनुराग ढांडा लाठीचार्ज में गंभीर घायल हो गए। इसमें अनुराग ढांडा के सिर पर चोटे आई । वहीं डॉ. सुशील गुप्ता के शरीर और पैरों पर गंभीर चोट आईं। सैंकड़ों पार्टी कार्यकर्ताओं को गंभीर चोटें आईं।


 


 


अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी के विरोध में किया था प्रदर्शन


डॉ. सुशील गुप्ता ने आरोप लगाया कि पुलिस ने कार्यकर्ताओं पर लाठियां बरसाई हैं। जिसमें सैकडों कार्यकर्ता घायल हुए हैं। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल से भाजपा डरी हुई है। क्योंकि भाजपा की की विदाई निश्चित हो चुकी है। झूठे केस में 2 साल से सत्येंद्र जैन को और डेढ़ साल से मनीष सिसोदिया को गिरफ्तार कर रखा है। अब उसी झूठे केस में अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार कर लिया। लेकिन भाजपा पिछले 2 साल में 1 हजार के ऊपर रेड करा चुकी है, डेढ़ हजार अफसरों की टीम लगी हुई है 5 रुपए भी बरामद नहीं हुए। उन्होंने कहा सुप्रीम ने भी इस केस में कहा है कि 4 दिन भी ये केस नहीं चल पाएगा। सुशील गुप्ता ने कहा कि अरविंद केजरीवाल पर दबाव डालकर इंडिया गठबंधन को तोड़ना चाहते हैं.


 


लोकतांत्रिक तरीके से प्रदर्शन नहीं करने दिया गया


वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष अनुराग ढांडा ने कहा कि हम शांतिपूर्ण तरीके से यहां धरना प्रदर्शन करने के लिए आए क्योंकि इन्होंने कायरतापूर्ण कार्रवाई करते हुए एक सिटिंग सीएम को रात के अंधेरे में गिरफ्तार करके जेल में डाला, उसके खिलाफ प्रदर्शन करने आए थे। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी को लोकतांत्रिक तरीके से प्रदर्शन नहीं करने दिया ।
उन्होंने कहा कि लोग विरोध भी करेंगे और भाजपा के खिलाफ वोट देकर इनका सूपड़ा साफ करेंगे। यह राजनीतिक लड़ाई है।‌ जिसको भाजपा एजेंसियों के जरिए लड़ना चाहती है। कांग्रेस के सारे अकाउंट फ्रीज कर देना और अरविंद केजरीवाल को जेल में डाल देना, यह लोकतंत्र को कंप्रोमाइज करने की कोशिश है। लेकिन हमें न्यायालय से पूरी उम्मीद है और हम कानून व्यवस्था पर विश्वास करने वाले लोग हैं।

Story You May Like